खाना बनाते समय करती है ये गलती हर महिला क्या आप जानते है

0

हम आपको आपके जीवन से जुड़ी हुई कुछ खास बातें बताने जा रहे है एक हेल्दी लाइफ पाने के लिए वर्तमान में लोग काफी तेजी गति से जागरूक होते जा रहे हैं स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने के लिए पोषक तत्व से भरपूर खाना लेना बेहद जरूरी होता है इसके साथ ही जरूरी खानपान की अच्छी आदतों को जीवन में उतारना भी बेहद लाभदायक होता है।

महिलाओं को खाने बनाने से संबंधित कुछ खास बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है कई बार देखने को मिलता है कि जल्दीबाजी में फास्ट फूड कुकिंग का इस्तेमाल करते हैं फास्ट फूड कुकिंग में माइक्रोवेव ओवन, ग्रिलर और सेंडविच मेकर जैसी चीजों का इस्तेमाल किया जाता है फास्ट फूड जैसी चीजों में पोषक तत्वों कम हो जाते हैं और नियमित रूप से इन चीजों का सेवन करने से स्वास्थ्य भी खराब होता है आइए जानते हैं महिलाओं द्वारा की जाने वाली गलतियों के बारे में।

 

प्रेशर कुकर की गलती

घर में प्रेशर कुकर का इस्तेमाल इसलिए किया जाता है ताकि हाई प्रेशर पर खाना उबाल कर पकाया जा सके

ऐसा करने से खाने के लगभग 90% पोषक तत्व उसी समय नष्ट हो जाते हैं ऐसे में उस खाने का महत्व बिल्कुल भी नहीं रहता और शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व नहीं मिल पाते।

एलुमिनियम के बर्तन

वर्तमान में हर घर में खाना पकाने के लिए एलुमिनियम की धातु से बने बर्तनों का इस्तेमाल किया जाता है एलुमिनियम की धातु से बने बर्तन में खाना पकाने से शरीर कई रोगों का शिकार हो सकता है जैसे कि किडनी, लीवर, कैंसर इत्यादि इसलिए जितना कोशिश हो सके एलुमिनियम के बर्तनों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

फ्रिज

वर्तमान समय में फ्रिज का चलन बेहद ज्यादा हो गया है फ्रिज का इस्तेमाल घरेलू खाने पीने की चीजों को तरोताजा रखने के लिए किया जाता है लेकिन बताना चाहेंगे कि फ्रिज में क्लोरो फ्लोरो कार्बन गैस मौजूद होती है जो खाने को दूषित करती है अगर आप खाने को कुछ समय के लिए ताजा रखना चाहते हैं तो ही फ्रिज में रखें अन्यथा फ्रिज में ज्यादा लंबे समय तक रखा खाना नहीं खाएं घरेलू महिलाएं खासतौर पर बचे हुए आटे को फ्रिज के अंदर ना रखें।

माइक्रोवेव

माइक्रोवेव का इस्तेमाल खाना पकाने और भोजन को गरम करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है माइक्रोवेव ओवन से निकलने वाली रेडिएशन भी बेहद ज्यादा घातक साबित हो रही है इसके साथ ही बताना चाहेंगे कि माइक्रोवेव ओवन में खाने की पौष्टिकता 60 से 90% तक कम हो जाती है, जिसकी वजह से वह खाना खाने लायक नहीं होता।

चीनी का अधिक इस्तेमाल

वर्तमान समय में लोगों को चीनी यानी मीठे का बेहद ज्यादा शौकीन है इसके साथ ही जो लोग चीनी का दैनिक दिनचर्या में अधिक मात्रा में इस्तेमाल करते हैं, उनका बुढ़ापा जल्दी आने लगता है इसके साथ ही चीनी का अधिक मात्रा में सेवन करने से हड्डियां-दांत कमजोर हो जाते हैं, हार्ट अटैक और मोटापे से संबंधित समस्याएं भी बढ़ जाती है|

एमएसजी का इस्तेमाल

अगर आप भी खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए एमएसजी का अधिक मात्रा में इस्तेमाल करते हैं, तो आप कई बीमारियों के शिकार हो सकते हैं जैसे कि कैंसर, मोटापा, लीवर इत्यादि भोजन में 3 ग्राम से ज्यादा एमएसजी का उपयोग करना स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक है फास्ट फूड या एमएसजी युक्त डाइट का सेवन करने से आप गंभीर बीमारियों के शिकार हो सकते हैं।

मैदा

वर्तमान में आटे की जगह में मेदा चलन ज्यादा हो चुका है अगर आप प्रतिदिन मैदे का सेवन करते हैं, तो आपको पेट से संबंधित बीमारियां उत्पन्न ना हो सकती हैं जैसे कि गैस, कब्ज, एसिडिटी, अपच इत्यादि इसके साथ ही आप मोटापे का भी शिकार हो सकते हैं मैदे का अधिक मात्रा में सेवन करने से यूनिटी सिस्टम कमजोर हो जाता है और हड्डियां भी कमजोर होती है।

आपको कैसी लगी जानकारी हमे जरूर बताएं जानकारी पसंद आई तो लाइक ओर शेयर जरूर करे ऐसी ही नई नई जानकारी के लिए हमे फॉलो करें।

Loading...