चेक लेते या देते समय करे न ये गलती वरना हो जायेगा ऐसा नुक्सान

हेल्लो दोस्तों आज के समय में चेक लेते या देते समय कुछ जरुरी बाते ध्यान देनी चाहिए जिससे हमें किसी भी तरह का नुक्सान न हो।

चेक लेते या देते समय ध्यान देने वाली बातें

 डिजिटल पेमेंट के दौर में भी अधिकांश लोग चेक से पेमेंट को सुरक्षित मानते हैं ऐसे समय में जब लोग नेट बैंकिंग और पेमेंट वॉलेट का धड़ल्ले से इस्तेमाल कर रहे हैं आज भी चेक से लेन-देन जारी है हालांकि चेक से लेन-देन के दौरान भी हमें थोड़ी सावधानी बरतनी होती है, ऐसा न होने की सूरत में हमें नुकसान भी उठाना पड़ सकता है चेक के साथ की गई छोटी सी लापरवाही भी आपको मुश्किलों में डाल सकती है इसलिए कोशिश करें की आप चेक से लेन-देन के दौरान थोड़ा सतर्क रहें। हम अपनी इस खबर के माध्यम से आपको बताएंगे कि आपको चेक से लेन-देन के दौरान किन सावधानियों को बरतना चाहिए।

चेक में लिखी तारीख की न करें अनदेखी: 

जानकारी के लिए आपको बता दें कि चेक पर आपकी ओर से लिखी तारीख के अगले तीन महीने यानी सिर्फ 90 दिनों तक के लिए ही वो वैलिड रहता है यानी इसी अवधि के भीतर आपको उसे डिपॉजिट कराना होता है अगर आप इस अवधि को नजरअंदाज कर देते हैं तो तीन महीने बाद वह आपके किसी काम का नहीं रह जाता है यानी सीधे तौर पर आपको नुकसान का सामना करना पड़ेगा इसलिए हमेशा चेक की डेट को ध्यान में रखें।

अकाउंट पेई और बीयरर का उल्लेख करें: 

अगर आप किसी को चेक के माध्यम से पेमेंट कर रहे हैं या फिर आप किसी के बैंक खाते में पेमेंट के लिए चेक दे रहे हैं तो चेक पर अकाउंट पेई जरूर डालें आप ऐसा चेक के टॉप कॉर्नर पर डबल क्रॉस लाइन के बीच A/C Payee लिखकर कर सकते हैं ऐसे चेक का पेमेंट सीधा बैंक अकाउंट में होता है और इसे तुरंत भुनाया नहीं जा सकता है इसका फायदा यह होता है कि चेक खोने या गायब होने की सूरत में कोई भी इसका गलत इस्तेमाल नहीं कर पाएगा इसलिए अगर आप किसी को चेक के जरिए पेमेंट कर रहे हैं तो उसे अकाउंट पेई चेक ही थमाएं।

चेक पर अमाउंट भरने के बाद ‘/-‘ साइन डालना न भूलें: 

आमतौर पर कुछ लोग ऐसी गलती कर देते हैं जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ता है चेक में शब्दोंस और अंकों में अमांउट डालने के बाद उसके पीछे ‘/-‘ का साइन बनाना बेहद जरूरी होता है वहीं शब्दों में लिखते समय आप ओनली लिख सकते हैं इसका मतलब यह होता है कि आपने जिस राशि का चेक काटा है वो उसी राशि तक सीमित है ऐसा न करने पर आपके चेक पर अमाउंट को आसानी से बढ़ाया जा सकता है।

चेक काटने से पहले एक बार जरूर चेक करें अपना बैंक बैलेंस:

अमूमन लोग अपना बैंक बैलेंस चेक किए बिना चेक काट देते है बैलेंस चेक करने के बाद ही आपको चेक काटना चाहिए क्योंकि अगर आपने जिस राशि का चेक काटा है उतनी राशि अगर आपके बैंक खाते में नहीं हुई तो चेक बाउंस हो जाएगा चेक बाउंस होने की सूरत में आप मुश्किल में भी आ सकते हैं बैंक इस पर आपसे पेनाल्टी भी ले सकता है। चेक बाउंस होने पर पेनल्टी 500 रुपये प्लेस GST तक है।

हमेशा अपने पास रखें चेक की डिटेल: 

चेक की डिटेल्सत को हमेशा अपने पास रखना चाहिए आप जब भी किसी को चेक दें तो उसकी डिटेल्से जैसे चेक नंबर, अकाउंट का नाम, अमाउंट और डेट जरूर नोट कर लें ये जानकारियां चेक कैंसिल करने की जरूरत पड़ने पर आपके काम आ सकती हैं।

दोस्तों आज हमने आपको बहुत जरुरी जानकारी दी है आप इन बातों को जरूर ध्यान में रखें।

Kiran Kashyap

मैं किरण कश्यप एक हिंदी ब्लॉगर हूं हिंदी भाषा की इस website पर आपको वो जानकारी उपलब्ध करवाना चाहती हूँ जो आपकी life के लिए बहुत जरुरी है आपको हमारी इस website पर कुछ ऐसी जानकारी मिलेगी जो आपको कही नहीं मिलेगी हमारा हमेशा से यही प्रयास रहा है कि हम आपको आपकी life की अच्छी जानकारी दे। www.askinhindi.in आप हमारी website को जरूर फॉलो करें।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *