जियो में कॉल के पैसे लगने पर यूज़र्स ने शुरू किया इस कंपनी को इस्तेमाल करना

0

आज हम आपको रिलायंस जिओ के बारे में बताने जा रहे हैं इस समय आपको कौन सा नेटवर्क प्रोवाइडर छोड़ना चाहिए इससे आपको और हमारे देश को क्या लाभ हो सकता है आइए जानते हैं इसके बारे में।

केवल दो ही कारण होते हैं जब रखते अपने मोबाइल नंबर को पोर्ट कराने की सोचता है या तो उसका नेटवर्क प्रोवाइडर उससे ज्यादा पैसे ले रहा है या फिर इंटरनेट की स्पीड या नेटवर्क कवरेज सही ढंग से न मिलने के कारण ग्राहक अपने सिम को कराना पसंद करता है और हाल ही में एसी चार्जेस को लेकर जिओ में खबरें आ रही है कि कई लोगों ने मन में यह धारणा बना रखी थी कि जियो भी चार्ज नही लेगा और कई लोगों के मन में अभी भी जिओ को लेकर कई सारे सवाल भी है जिन सवालों पर आप लोगों को इस आर्टिकल में जवाब मिलने जा रहा है।

सबसे पहले भारत में आपके लिए कौन सा सर्विस प्रोवाइडर सबसे अच्छी सर्विस दे सकता है तो उसमें चार प्रमुख टेलीकॉम कंपनी आती है जिसमें आईडिया, एयरटेल, वोडाफोन और जियो है वहीं बीएसएनएल और एमटीएनएल भी उपलब्ध है जहां पर वोडाफोन और आईडिया जो भी एक हो चुके हैं और बीएसएनएल और एमटीएनएल भी हो चुका है क्योंकि यह स्टेट गवर्नमेंट के अंदर आते हैं आपको कौन सा ऑपरेटर प्रोवाइडर चुनना चाहिए तो इसमें वोडाफोन को छोड़कर अन्य सभी कंपनियां भारतीय हैं।

जिनमें मालिक भी भारत के हैं हम आपको बता देगी वोडाफोन और आईडिया एक हो चुके हैं और इसी के साथ सबसे कम कीमत पर उपलब्ध कराए जाने वाले प्लान आईडिया, एयरटेल और वोडाफोन के पास है हम आपको बता दें कि सभी ग्राहक एयरटेल को चलाना भी पसंद कर रहे हैं और जिओ के रिचार्ज के बाद एयरटेल में पोर्ट करना पसंद कर रहे हैं।

जिओ के इस प्लान के पहले आईडिया, एयरटेल और वोडाफोन की ग्राहक जिओ में जाना पसंद करते थे| जिओ के बेहतर नेटवर्क स्पीड और दमदार प्लान की वजह से जिओ को पसंद किया जाता था लेकिन जिओ ने आई सी प्लान के लिए अलग से चार्ज लेना शुरू किया है जिस वजह से ग्राहक आईडिया, एयरटेल और वोडाफोन में अपनी सिम को पोर्ट करना पसंद कर रहे हैं।

आपको कैसी लगी जानकारी हमे जरूर बताएं जानकारी अगर पसंद आई तो लाइक और शेयर जरूर करे ऐसी ही नई नई जानकारी के लिए हमे फॉलो करें।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.