इस वजह से रानू मंडल को उनके पति ने घर से कर दिया था बाहर ,वजह जानकर हैरान

आज हम रानू मंडल की कुछ खास बातें बताने वाले है।
सोशल मीडिया पर इन दिनों सनसनी मचा रही पश्चिम बंगाल के रानाघाट के रहने वाली रानू मंडल, को देशभर में पहचाना जाने लगा है। रेलवे स्टेशन पर गाना गा कर जीविका चलाने वाली गरीब महिला रानू मंडल के द्वारा गाए एक गाने ने उन्हें रातों रात स्टार बना दिया है।

मशहूर होने के बाद उन्होंने अपनी जीवन से जुड़ी कुछ अनसुनी सच्चाई लोगों के बीच साझा की है। सोशल मीडिया पर आम यूजर्स से लेकर सेलिब्रिटीज तक रानू मंडल के बारे में चर्चा कर रहे हैं। रानू की शोहरत का ही नतीजा है कि 10 साल पहले जो बेटी उन्हें छोड़कर चली गई थी वो मिलने पहुंचीं हालांकि सोशल मीडिया पर इसकी आलोचना भी हो रही है कि मशहूर होते ही उनके परिवार के सदस्य मिलने पहुंचे। अब उनके परिवार के बारे में भी जानकारी सामने आई है।

रानू मंडल के पास रहने के लिए खुद का घर नहीं है। वो नदिया जिले के बेगोपारा में एक उजड़े हुए घर में रहती हैं। यह किसी दूसरे का घर है। रानू बताती हैं कि ‘मैं कोलकाता और दूसरी जगहों पर स्टेज शोज करती थीं और दूसरे मशहूर गायकों के परफॉर्मेंस से पहले गाती थी। ज्यादातर बड़े गायक शो में देर से पहुंचते थे ऐसे में तब तक मैं गाना गाकर दर्शकों को सुनाती थी।’

रानू का वीडियो पश्चिम बंगाल के ही रहने वाले सॉफ्टवेयर इंजीनियर अतींद्र चक्रवर्ती ने बनाया था। रानू के बारे में अतींद्र ने बताया कि उनकी दो शादियां हुई थीं। पहला पति पश्चिम बंगाल का ही था जो रानू का ध्यान नहीं रखता था। महज 20 साल की उम्र में रानू आस-पास के क्लबों में गाना गाती थीं जो उनके पति को बिल्कुल पसंद नहीं था। पति के लिए रानू ने गाना भी बंद कर दिया था। इसके बावजूद उसने रानू को छोड़ दिया। पहले पति से रानू को एक बेटा और एक बेटी हुई।

पति के छोड़ने के बाद रानू के पास कोई सहारा नहीं रहा तो वो मुंबई पहुंचीं जहां काफी भटकने के बाद उन्हें फिरोज खान के घर नौकरी मिली। यहीं पर उनकी मुलाकात बबलू मंडल से हुई जिससे उन्होंने शादी कर ली लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था और साल 2003 में पति की असमय मौत हो गई। पति की मौत के बाद रानू फिर से पश्चिम बंगाल लौट गईं जहां वो गाना गाकर पैसे मांगती थीं। बबलू मंडल से रानू को एक बेटा और एक बेटी है।

रानू की पॉपुलरिटी के बाद उनकी बेटी मिलने पहुंची थीं जो उनके पहले पति से बेटी है। मां के भीख मांगने की वजह से 10 साल पहले उनकी बेटी उन्हें छोड़कर चली गई थी। दरअसल, रानू की मानसिक स्थिति इतनी मजबूत नहीं हैं। रानू को न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर है और वह पैनिक अटैक से पीड़ित हैं। जिस वजह से रानू के अपनों ने उनका साथ छोड़ दिया था आज वहीं वापस उनसे मिलने आ रहे हैं।

आपको कैसी लगी जानकारी हमे जरूर बताएं जानकारी अगर पसंद आई तो लाइक और शेयर जरूर करे ऐसी ही नई नई जानकारी के लिए हमे फॉलो करें।

Join The Discussion