lifestyle

सभी वाहन चालकों के लिए लागू हुए ये नए नियम

आज हम आपको कुछ नए नियम बताने वाले है।सभी वाहन चालकों के लिए जारी हुए ये नए नियम।  जैसा कि आप सभी जानते है, कि आज के समय में हर व्यक्ति के पास दोपहिया वाहन हो गया है, और कुछ लोगों के पास चार पहिया वाहन भी हो गया है। जिसको वह सड़क पर चलाते है, तो यदि आप भी वाहन चलाते है, तो सभी वाहन चालकों के लिए  नए नियम जारी हुए है, तो वो कौन से नए नियम जारी हुए है। आज हम आपको इसी के बारे में जानकारी देंगे, तो आइये जानते है।

शराब पीकर गाड़ी चलाने पर जुर्माना – नए बिल में किए गए प्रावधानों के मुताबिक शराब पीकर गाड़ी चलाने पर जुर्माना 2000 रुपये से बढ़ाकर 10,000 रुपये करने कर दिया है।

आपातकालीन गाड़ी – दोस्तों किसी आपातकालीन गाड़ी को रास्ता नहीं देने पर पहली बार 10,000 रुपये के ज़ुर्माने का प्रावधान किया गया है।

मोबाइल फोन पर बात – दोस्तों मोबाइल फोन पर बात करते हुए गाड़ी चलाने पर जुर्माना 1000 रुपये से बढ़ाकर 5000 रुपये करने का प्रस्ताव है।

बिना हेलमेट – दोस्तों बिना हेलमेट गाड़ी चलाने पर 1,000 रुपये का जुर्माना और तीन महीने के लिए लाइसेंस ज़ब्त करने का प्रावधान है।

रैश ड्राइविंग – दोस्तों रैश ड्राइविंग करने पर जुर्माना 1,000 से बढ़ाकर 5,000 रुपये करने का प्रस्ताव है।

बिना लाइसेंस के ड्राइविंग – दोस्तों बिना लाइसेंस के ड्राइविंग करने पर जुर्माना 500 रुपये से बढ़ाकर 5,000 रुपये किया गया है।

तेज गति से गाड़ी चलाने पर जुर्माना – दोस्तों तेज गति से गाड़ी चलाने पर जुर्माना 500 से बढ़ाकर अधिकतम 5,000 रुपये किया गया है।

सीट बेल्ट नहीं लगाने पर जुर्माना – दोस्तों सीट बेल्ट नहीं लगाने पर जुर्माना 100 रुपये से बढ़ाकर 1000 रुपये करने का प्रस्ताव रखा गया है।

नाबालिग – दोस्तों मोटर व्हीकल बिल में अगर कोई नाबालिग गाड़ी चलाते पकड़ा जाता है, तो उसके अभिभावक या गाड़ी के मालिक दोषी माना जाएगा। इसके लिए 25,000 रुपये के ज़ुर्माने के साथ-साथ 3 साल के जेल का प्रावधान है, और साथ ही गाड़ी का रजिस्ट्रेशन भी रद्द करने का प्रावधान है।

आधार नंबर अनिवार्य – दोस्तों अब लाइसेंस लेने या गाड़ी के रजिस्ट्रेशन के लिए आधार नंबर अनिवार्य करने का प्रस्ताव है।

लाइसेंस को रिन्यू – दोस्तों अब लाइसेंस की वैधता खत्म होने के बाद 1 साल तक लाइसेंस को रिन्यू यानी फिर से बनवाया जा सकेगा।

दुर्घटना में किसी की मौत – दोस्तों यदि सड़क के गलत डिजाइन या उसके निर्माण और उसके रखरखाव की कमी के चलते दुर्घटना में किसी की मौत होती है, तो सड़क निर्माण करने वाले ठेकेदार, सलाहकार के साथ और सिविक एजेंसी जिम्मेदार होगी। ऐसी दुर्घटनाओं के एवज में मुआवजे के दावे की का निपटारा 6 महीने के भीतर करना अनिवार्य बनाया जाएगा।

पुर्जे की क्वालिटी कम – दोस्तों यदि गाड़ी के पुर्जे की क्वालिटी कम होने के चलते गाड़ी की दुर्घटना होती है, तो सरकार उन सभी गाड़ियों को बाजार से वापस लेने का अधिकार रखेगी, और साथ ही निर्माता कंपनी पर अधिकतम 500 करोड़ रुपए का जुर्माना भी लगा सकती है।

आपको कैसी लगी जानकारी हमें कमेंट करके जरूर बताएं अगर अच्छी लगे तो इसे लाइक और शेयर करके हमें फॉलो करना ना भूलें।

Join The Discussion