उत्तर प्रदेश से हारेगी भाजपा पार्टी हुआ आंकड़े देखकर तय

चुनाव को लेकर हर तरफ चर्चा है उत्तर प्रदेश में सपा बसपा महागठबंधन के आधिकारिक ऐलान के बाद राजनीतिक पंडित भी सक्रिय हो गए हैं गौरतलब है कि महागठबंधन को लेकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बेवाकी से बयान दे चुके हैं वह यह स्पष्ट कर चुके हैं।

चुनाव 2019 में वह सपा बसपा गठबंधन से बड़ी आसानी से निपट लेंगे लेकिन आज हम आपको लोकसभा चुनाव 2014 के कुछ आंकड़ों से रूबरू करवाने जा रहे हैं, जिसे देखने के बाद अमित शाह के भी होश उड़ जाएंगे।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में यदि महागठबंधन होने के बाद भी लोकसभा चुनाव 2014 की तरह ही वोटर्स वोट डालने जाते हैं तब भी भाजपा को 33 सीटों का नुकसान झेलना पड़ सकता है दरअसल लोकसभा चुनाव 2014 में भारतीय जनता पार्टी को कुल 43 फ़ीसदी वोट प्राप्त हुए थे।

जबकि सपा और बसपा को अलग-अलग लेकिन कुल मिलाकर 42 फ़ीसदी वोट प्राप्त हुए थे यही वजह है कि यदि लोकसभा चुनाव 2019 में सपा बसपा 2014 की तरह भी वोट मिल जाते हैं, तो वह भाजपा से मात्र 1 फ़ीसदी पीछे रह जाएंगे ऐसे में गठबंधन भारतीय जनता पार्टी पर हावी हो जाएगा।

वहीं यदि बात करें तो चुनाव 2019 में 2014 की तरह मोदी लहर भी नहीं होगी क्योंकि मोदी का प्रभाव चुनाव 2014 की अपेक्षा बेहद कम हो चुका है वहीं यदि बात योगी सरकार की करें तो वह भी उत्तर प्रदेश में अपनी लहर बना पाने में नाकाम हुई है।

ऐसे में यदि यह माना जाए कि भाजपा को 2014 जितने वोट प्राप्त होंगे तब भी उसे 33 सीटों का नुकसान झेलना पड़ेगा तथा यदि 2014 की अपेक्षा कुछ कम वोट प्राप्त हुए तो भाजपा बेहद कम सीटों पर सिमट सकती है।

हालांकि क्या आपके अनुसार सपा-बसपा मिलकर भाजपा को पटकनी दे पाएंगे तथा क्या वाकई में भाजपा के लिए दिल्ली की राह बेहद कठिन होने वाली है।

आपको कैसी लगी जानकारी हमे जरूर बताएं जानकारी पसंद आई तो लाइक ओर शेयर जरूर करे ऐसी ही नई नई जानकारी के लिए हमे फॉलो करें।

Join The Discussion