सुहागरात से जुड़ी हुई कुछ बातें जो हर किसी पता होनी चाहिए

वैसे तो आज कल सभी को इसकी जानकारी होती है लेकिन हिन्दू धर्म में विवाह के समय कई तरह के रस्म-रिवाज़ निभाए जाते हैं इन सबके अलग-अलग मायने और महत्व हैं ऐसा ही एक रस्म है सुहागरात जिसमें वर-वधु का मिलन होता है।

भारतीय संस्कृति मनुष्य के संस्कार पर आधारित है जन्म से लेकर मृत्यु तक अलग-अलग तरह के कुल 16 संस्कार होते हैं इन्हीं में से एक विवाह संस्कार भी है मॉडर्न होने की दुहाई देते हुए भले आज विवाह के मायने बदल गए हों, लेकिन ये दो लोगों का ही नहीं, बल्कि परिवार और समस्त समाज से जुड़ाव का एक बड़ा पर्व होता है यही कारण है कि विवाह में सभी सगे-संबंधी जुटते हैं और वर-वधु को आशीर्वाद देते हैं।

सबसे महत्वपूर्ण बात होती है बड़े बुजुर्गों का आशीर्वाद लेना सुहागरात के अवसर पर वर-वधू सबकी शुभकामनाएं लेकर नये जीवन की शुरुआत करते हैं बड़े-बुजुर्गों का आशीर्वाद पाकर जीवन की इस यात्रा में कदम बढ़ाते हैं इस प्रकार इन रिवाज़ों के अलग-अलग मायने हैं, जो बेहद अर्थपूर्ण हैं।

सुहागरात पर दुल्हन को मुंह दिखाई देने का रिवाज़ भी बहुत पुराना है कहा जाता है भगवान राम ने भी माता सीता को मुंह दिखाई दी थी आजकल मुंह दिखाई के रूप में आभूषण तथा मोबाइल देने का चलन है ज़ाहिर है गिफ्ट देकर लोग अच्छे संबंध की नींव रखते हैं।

सुहागरात के दिन दुल्हा-दुल्हन पूजा करते हैं, जो कुल देवी अथवा देवता होते हैं इनसे आशीर्वाद लेकर अपनी जीवन की नई पारी शुरू करते हैं मान्यता है कुल देवता की कृपा से कुल की बढ़ोतरी होती है ज़ाहिर है इसका सीधा संबंध संतान प्राप्ति से है।

आपको कैसी लगी जानकारी हमे जरूर बताएं जानकारी पसंद आई तो लाइक ओर शेयर जरूर करे ऐसी ही नई नई जानकारी के लिए हमे फॉलो करे।

Join The Discussion