श्री कृष्ण जी क्या कहते थे कैसे बन सकते है सफल इंसान

हेल्लो दोस्तों सफल इंसान कैसे बन सकते है इसके लिए सब सोचते है लेकिन भगवान श्रीकृष्ण कहते है वेद एक ऐसी चीज है जिसे आप मुट्ठी में बंद करके नही रख सकते क्या हमारे हाथों में इतनी शक्ति नही कि हम इसे मुट्ठी में बंद करके रख सकें या इसका स्वरूप ही ऐसा है कि ये फिसल ही जाएगी।

Also Read – 

कैसा कछुआ घर में रखना शुभ होता है

ये वस्तु किसी को नहीं देनी चाहिए उपहार में

इसीलिए कहा जाता है कि आप रेत को मुट्ठी में बंद करके नही रख सकते लेकिन आप रेत को मुट्ठी में बंद करके रख सकते है इसका जवाब है कि अगर आपके हाथ मे पसीना हो तो आप रेत को मुट्ठी में जकड़ कर रख सकते हैं बात ये है कि पसीना कैसे आता है तो इसका जवाब है परिश्रम परिश्रम करने से ही पसीना होता है अगर आप परिश्रम से निकले पसीने से रेत को मुट्ठी में कैद कर सकते है तो वो कौन सी चीज है जो आप परिश्रम से हासिल नही कर सकते मान, सम्मान, धन, संपत्ति ये सब परिश्रम की उत्पाद है।

दोस्तों आप समझ गए होंगे की सफल इंसान कौन बन सकता है वही बन सकता है जो परिश्रम करता हो जिसने पसीने को बहाकर परिश्रम किया है तो आप भी परिश्रम करो देखना की आप एक दिन जरूर सफल हो जायोगें।

आपको कैसी लगी जानकारी हमे जरूर बताये और ऐसी ही और जानकारी के लिए हमे फॉलो करना न भूलें।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *