शरद पूर्णिमा के दिन खीर जरूर खाये और इस बीमारी से हमेशा के लिए छुटकारा पाये

0

शरद पूर्णिमा का कुछ ज़्यादा ही महत्व है शरद् पूर्णिमा के दिन औषधियों की स्पंदन क्षमता बहुत अधिक हो जाती है और इस प्रकार की औषधियाँ हमारे लिए वरदान साबित होती हैं यही कारण है कि शरद् पूर्णिमा के दिन रात को खीर बनाकर उसको चाँदनी रात में खुले आकाश के नीचे रखा जाता है।

Also Read – 

ये राशि बनेगी करोड़पति कोई नहीं रोक सकता

बुधवार के दिन करे ये उपाय

बुद्धिमान और चतुर व्यक्ति में होती है कुछ खास बातें

जिससे उसमें औषधीय गुण आ जाए और वह हमारे शरीर के लिए फायदेमंद हो तो दोस्तों वैसे तो शरद् पूर्णिमा की खीर हमें कई प्रकार की बिमारियों से बचाए रखती है किन्तु फिर भी यदि आप दमा के रोगी हैं।

तो हम आपको शरद् पूर्णिमा की खीर को खाने का एक बहुत ही बढिय़ा तरीका बताते हैं यदि आपने खीर को उस तरीके से खाया तो आपकी दमा की बिमारी चाहे कितनी भी पुरानी क्यों नहीं हो वह दूर हो जाएगी और यदि आपके यह बिमारी नहीं है तो फिर जीवन में कभी भी नहीं यह बिमारी नहीं होगी तो वह तरीका यह है कि आप शरद् पूर्णिमा के दिन रात को खीर बनाए और उसको रात को 10 बजे से 12 बजे तक चादनी रात में खुले आकाश के नीचे चाँद की रोशनी में रख दें इसके साथ ही उस खीर में तुलसी के साथ दिव्य औषधि को मिला दें और उस खीर को सुबह चार बजे खा लें।

किन्तु इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखें कि यह खीर आपको ठीक चार बजे ही खानी है इससे पहले या बाद में नहीं खानी है ऐसा करने से आपको दमा की बिमारी से ही नहीं बल्कि और भी अनेक प्रकार की बिमारियों से छुटकारा मिल जाएगा।

आप भी खीर का सेवन करे आपको कैसी लगी जानकारी हमे जरूर बताये ऐसी ही नयी नयी जानकारी के लिए हमे फॉलो करें।

Loading...