शक्तिमान क्यों हुआ था बंद वजह जानकार हो जाओगे हैरान

जहाँ तक मैं जानती हूं सभी का फेवरेट सुपर हीरो कौन है, तो ज्यादातर लोग स्पाइडर मैन, आयरन मैन, सुपर मैन या अवेंजेर्स का नाम लेंगे मगर अगर आप ये सवाल आज से 15 साल पहले किसी बच्चे से पूछते तो उनका जवाब एक ही होता “शक्तिमान”। शक्तिमान ही भारत का सबसे पहला सुपर हीरो था, जो लोग 90 के दशक में पैदा हुए उनके लिए सिर्फ एक ही सुपर हीरो था जो शक्तिमान था।

इन्हें भी जरूर पढ़ें – 

क्या आप भी अपर लिप्स के बाल हटाना चाहते है

क्या आप भी बालों की समस्या से परेशान है तो पढ़े ये

चेहरे की खूबसूरती में लगा ले चार चांद हर कोई आपको देखेगा

तो दोस्तों आज हम बात करेंगे भारत के सबसे पहले सुपर हीरो शक्तिमान की, जिसने भारतीय टीवी सीरियल को एक नयी दिशा दी उस वक़्त शक्तिमान ने भारततीय बच्चों के दिल में एक ऐसी जगह बना ली थी जिस प्रकार आज स्पाइडर मैन, सुपर मैन ने बनाई है जो बच्चे 90 के दशक में पैदा हुए वो ये बात अच्छी तरह से जानते है बहुत सारे ऐसे बच्चे थे जो शक्तिमान देखने के लिए स्कूल तक नहीं जाते थे, और पिटाई खाते थे ।

शक्तिमान दूरदर्शन चैनल में प्रसारित किया जाता था, उस वक़्त भारत में सिर्फ एक, दो ही चैनल थे जिसमे दूरदर्शन सबसे ज्यादा देखा जाने वाला चैनल था फिर अचानक से ऐसा क्या हुआ की शक्तिमान दूरदर्शन में आना बंद हो गया, आखिर ऐसा क्या हुआ की मुकेश खन्ना को इतना बड़ा फैसला लेना पड़ा इसका जवाब शायद आपके पास आजतक नहीं होगा, आज हम आपको बताते है की आखिर क्यों शक्तिमान बंद हो गया?

क्यों बंद हुआ शक्तिमान

शातिमान बंद करने की मांग उस वक़्त से होने लगी थी, जब बच्चे शक्तिमान की एक्टिंग करने लगे थे एक बार एक बच्चा शक्तिमान बनने के चक्कर में अपने छत से कूद गया था, इस वजह से शक्तिमान को काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था और लोग इसे बंद करने की मांग करने लगे।

इस घटना के बाद से मुकेश खन्ना ने “Sorry Shaktimaan” के सेगमेंट की शुरुआत की, जिसमे शो के अंत में छोटी मगर मोटी बात कही जाती थी इस सेगमेंट में शक्तिमान ने बच्चों के सामने अपने सारे राज खोलकर रख दिए और बताया की शक्तिमान कंप्यूटर ग्राफ़िक के मदद से बनाया जाता है और अच्छी सीख देने लगे।

इस प्रकार शक्तिमान को बंद होने से तो बचा लिया गया परन्तु इससे भी बड़ी परेशानियां शक्तिमान के सामने आई, शक्तिमान बच्चों का सबसे फेवरेट शो था मगर शक्तिमान उतनी कमाई नहीं हो पाती थी, जिससे शक्तिमान को बनाने का खर्चा निकला जा सके इसके बावजूद शक्तिमान को चालू रखा गया गया।

दूरदर्शन वालें शक्तिमान के एक भाग को प्रसारित करने का 10 लाख रूपए लेते थे, जो समय से साथ-साथ बढ़ता गया और 40 लाख तक बढ़ गया उस वक़्त उतने विज्ञापन भी नहीं होते थे जिससे शक्तिमान का खर्चा उठाया जा सके, अंत में मुकेश खन्ना को बच्चों का सबसे फेवरेट शो शक्तिमान को बंद करना पड़ा।

शक्तिमान बंद होने की वजह से मुकेश खन्ना को गहरा सदमा पहुंचा और वो बीमार रहने लगे वो हरदम इसे फिर से चलाने के बारे में सोचते रहते थे एक इंटरव्यू में मुकेश खन्ना के कहा था की शक्तिमान सीरियल उनके दिल से जुड़ चूका था।

करीब 10 सालों के बाद फिर से शक्तिमान को नयी पीढ़ी के बच्चों के लिए स्टार उत्सव और पोगो चैनल में दिखाया जाने लगा मगर उतना कामयाब नहीं हो पाया ।

आपको कैसी लगी जानकारी हमें जरूर बताएं अगर आपको जानकारी पसंद आयी तो लाइक और शेयर जरूर करें ऐसी ही नयी नयी जानकारी के लिए हमें फॉलो करें।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *