सचिन तेंदुलकर का जवाब, विराट कोहली की जगह ले सकता है ये खिलाड़ी

क्या आप भी इस बात से नाखुश है कि विराट कोहली नही खेलेगा ऑस्ट्रेलिया-भारत के बीच टी-20 और वनडे सीरीज खत्म हो चुकी है, और चार मैचों की टेस्ट सीरीज शुरू होने वाली है दोनों टीमों के बीच पहला टेस्ट मैच एडिलेड में 17 दिसंबर से खेला जाएगा इस मैच के बाद ही टीम के कप्तान विराट कोहली भारत वापस लौट आएंगे इसी बीच कोहली की वापसी को लेकर भारतीय टीम के दिग्गज खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर ने बड़ा बयान दिया है उनका मानना है कि कोहली के वापस आने का असर भारत पर नहीं होगा बल्कि युवाओं के लिए ये एक नया मौका होगा।

दरअसल एएफपी को दिए एक इंटरव्यू में सचिन तेंदुलकर ने कहा कि,’जब आप विराट कोहली जैसे अनुभवी खिलाड़ी खोते हैं तो इसमें कोई दो राय नहीं कि ये टीम के लिए बड़ा नुकसान होता है।

लेकिन सभी के लिए ये समझना जरूरी हो जाता है कि यह किसी एक खिलाड़ी की बात नहीं है बल्कि पूरी टीम को लेकर है इस समय भारतीय खिलाड़ियों के लिए जो सबसे अच्छी बात है वो बेंच स्ट्रेंथ हैं फिलहाल विराट कोहली जब भारत वापस लौटेंगे, तो उनकी जगह कुछ युवा खिलाड़ियों को मैदान पर उतरने का मौका दिया जाएगा जो किसी दूसरे खिलाड़ी के लिए एक सही मौका साबित होने वाला है’।

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड में होने वाले सिर्फ पहले टेस्ट में हिस्सा लेंगे इसके बाद अपने बच्चे के जन्म के लिए वो वापस भारत लौट आएंगे इससे पहले टीम इंडिया ने पिछले दौरे पर बड़ा इतिहास रचा था, और टेस्ट सीरीज पर कब्जा जमाया था।

हालांकि टेस्ट रैंकिंग में ऑस्ट्रेलिया की टीम भारत से आगे चल रही है। एडिलेड में खेला जाने वाला पहला टेस्ट मैच डे नाइट में होगा ये पहला मौका होगा जब दोनों टीमें आपस में कोई डे नाइट टेस्ट खेलने के लिए मैदान पर उतरेंगी हालांकि इस सीरीज को लेकर तेंदुलकर का कहना है कि, विरोधी टीम इस बार पहले के मुकाबले ज्यादा मजबूत स्थिति में होगी बीते दौरे पर भारतीय टीम ने जब ऑस्ट्रेलिया को हराया था तब डेविड वार्नर और स्टीव स्मिथ सैंडपेपर गेट घटना की वजह से सीरीज से बाहर हो गए थे जो मुकाबले के लिए कहीं बेहतर स्क्वाड है जिस समय आपके कुछ दिग्गज सदस्य नहीं होते हैं, तो अचानक उस शून्य को महसूस किया जाता है और यही ऑस्ट्रेलिया को महसूस होता है।

सचिन तेंदुलकर ने ये भी कहा कि, भारत की गेंदबाजी जसप्रीत बुमराह और ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन के नेतृत्व में काफी मजबूत है, जो ऑस्ट्रेलिया को चुनौती दे सकता है हर खिलाड़ी को एक-दूसरे से अलग रखना चाहिए क्योंकि मुझे तुलना करना पसंद नहीं है आपके पास ऐसे तेज गेंदबाज हैं जो डेक को हार्ड हिट करते हैं आपके पास कलाई से स्पिनर हैं और फिंगर के स्पिन गेंदबाज भी टीम में हैं।

आपको कैसी लगी जानकारी हमे जरूर बताएं अगर आपको जानकारी पसंद आई तो लाइक और शेयर जरूर करें और कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

 

 

Join The Discussion