पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड प्लान रचने वाला को मार दिया

किसने रचा था पुलवामा हमले को लेकर मास्टरमाइंड प्लान अब तक की सबसे बड़ी न्यूज है जब पुलवामा अटैक के बाद देश बदले की आग में धधक रहा था वही आज पुलवामा अटैक के मास्टर माइंड जैश आंतकी को कामरान और गाजी दोनों को मार दिया गया है पुलवामा में सीआरपीएफ पर हुए आतंकी हमले का पहला बदला ले लिया गया है पुलवामा अटैक के साजिशकर्ता मास्टरमाइंड कामरान और गाजी को भारतीय सेना ने मार गिराया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मारे गए आतंकियों में जैश के सबसे बड़े कमांडर और पुलवामा का मास्टरमाइंड कामरान जहां वो छुपा था आर्मी ने उस घर को ही उड़ा दिया। आज पुलवामा से करीब 14 किलोमीटर दूर पिंगलन में सोमवार सुबह से एनकाउंटर जारी है। मुठभेड़ में सेना के चार जवान भी शहीद हो गए। एक आम नागरिक के मारे जाने की खबर आ रही है।

हमले के मास्टरमाइंड की मौजूदगी की सूचना मिली थी

रिपोर्ट्स में के मुताबिक, भारतीय सेना को इलाके में तीन आतंकियों के छिपे होने की खबर मिली । इलाके को चारों ओर से घेर लिया गया है, एनकाउंटर सोमवार तड़के शुरू हुआ ।एनकाउंटर में घायल हुए जवानों को एनकाउंटर वाले इलाके से निकाल लिया गया था, लेकिन वहां पर उनकी मौत हो गई थी सुरक्षा के तौर पर पुलवामा जिले में इंटरनेट बंद कर दिया है।

CRPF 40 जवान हुए थे शहीद

आपको बता दें कि 14 फरवरी को पुलवामा जिले में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने एक आत्मघाती हमले में CRPF के काफिले पर हमला किया था जिसमे में 40 जवान शहीद हो गए थे। आतंकियों के खिलाफ कड़ा एक्शन लेने की मांग हो रही है। ये हमला जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी आदिल अहमद डार ने किया था, जो अपनी गाड़ी में बम फिट कर भारतीय सेना CRPF के काफिले में घुस गया था।

भारतीय सेना को मिली है खुली छूट

40 भारतीय जवानों पर हुए इस हमले के बाद से ही भारत ने कड़ा रुख अपना लिया है। नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सार्वजनिक मंचों से बयान दिया है कि उन्होंने सेना को खुली छूट दे दी है। मोदी ने कहा था कि उन्होंने सेना को कहा है कि बदला लेने की जगह – समय वह खुद तय करें बता दें कि हमले के बाद से ही बैठकों -रणनीति पर काम चल रहा है।

आपको कैसी लगी जानकारी हमे जरूर बताएं जानकारी पसंद आई तो लाइक और शेयर जरूर करे ऐसी ही नई जानकारी के लिए हमे फॉलो करें।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *