महिलाओं की बच्चेदानी की सूजन का ऐसा करे उपचार

0

सबसे ज़्यादा ऐसा देखने को मिलता है कि महिलाओं की बच्चेदानी में सूजन है इसलिए हम आज इसकी जानकारी को लेकर आये है आजकल महिलाओं में एक समस्या बहुत आम रूप से देखी जा रही है जिसका नाम है गर्भाशय या बच्चादानी में सूजन यह समस्या बहुत ही खराब होती है और इसकी वजह से बच्चे को जन्म देना मुश्किल हो जाता है इस समस्या का मुख्य कारण माहवारी में सावधानियों का कुप्रभाव माना जाता है यदि यह गर्भाशय को प्रभावित करता है तो उसमें सूजन उत्पन्न हो जाती है इसमें रोगी महिला को बहुत अधिक कष्ट उठाना पड़ता है यह समस्या महिलाओं में महावारी के समय होने वाले संक्रमण से भी उत्पन्न हो जाती है जिसके कारण गर्भाशय में शिशु नहीं पहुंच पाता है और बच्चे को जन्म देना लगभग असंभव हो जाता है अगर यह समस्या लगातार रहती है तो बांझपन जैसी समस्या भी उत्पन्न हो सकती है इसलिए इस समस्या का तुरंत ही उपचार कराना चाहिए आज मैं आपको बच्चेदानी अर्थात गर्भाशय में सूजन का एक रामबाण उपचार बताने वाली हूं जिसका प्रयोग करके आप इस समस्या से निजात पा सकते हैं और इस समस्या के अतिरिक्त या प्रयोग महिलाओं के अन्य कई समस्याओं को भी समाप्त करता है आइए जानते हैं इस उपचार के बारे में।

इन्हें भी जरूर पढ़े-

मोमोज खाने वाले को हो रही है ये बीमारी कही आपको तो नहीं

टमाटर नहीं खाना चाहिए इन लोगो को बन जायेगा जहर

अमरुद की पत्तियां कैसे हमारे शरीर की बीमारियों को ख़त्म करती है

बच्चेदानी में सूजन का उपचार

इसके लिए आपको अशोक की छाल 120 ग्राम, वरजटा, काली सारिवा, लाल चन्दन, दारूहल्दी, मंजीठ प्रत्येक को 100-100 ग्राम मात्रा, छोटी इलायची के दाने और चन्द्रपुटी प्रवाल भस्म 50-50 ग्राम, सहस्त्रपुटी अभ्रक भस्म 40 ग्राम, वंग भस्म और लौह भस्म 30-30 ग्राम तथा मकरध्वज गंधक जारित 10 ग्राम की मात्रा में लेकर सभी औषधियों को कूटछानकर चूर्ण तैयार कर लेते हैं।

फिर इसमें क्रमश: खिरेंटी, सेमल की छाल तथा गूलर की छाल के काढ़े में 3-3 दिन खरल करके 1-1 ग्राम की गोलियां बनाकर छाया में सुखा लेते हैं इसे एक या दो गोली की मात्रा में मिश्रीयुक्त गाय के दूध के साथ सुबह-शाम सेवन करना चाहिए इसे लगभग एक महीने तक सेवन कराने से स्त्रियों के अनेक रोगों में लाभ मिलता है इससे बच्चेदानी की सूजन, जलन, रक्तप्रदर, माहवारी के विभिन्न विकार या प्रसव के बाद होने वाली दुर्बलता इससे नष्ट हो जाती है।

आपको भी अगर यही परेशानी है तो आप इसका उपचार करे देखना आपको कुछ दिनों में ही इस परेशानी से निजात मिल जायेगा आपको कैसी लगी जानकारी हमे जरूर बताएं जानकारी अगर पसंद आयी तो लाइक और शेयर जरूर करे ऐसी ही नयी नयी जानकारी के लिए हमे फॉलो करें।