महिला को जरूर करना चाहिए ये काम कार्तिक मास में

जैसे की हम सब जानते है कि भारत देश में सबसे ज्यादा महत्व कार्तिक महीने को दिया जाता है माना जाता है कि इस महीने रोज सुबह प्रातः काल स्नान कर सूर्य की पूजा करने से एक हजार बार किये गए गंगा स्नान का फल प्राप्त होता है साथ में यह भी मान्यता है कुम्भ में किये गये स्नान का जितना महत्त्व है उतना ही कार्तिक माह स्नान के बाद फल प्राप्त होता है आज हम आपको कार्तिक माह में स्नान करते समय बरती जाने वाली कुछ बातें बताने जा रहे हैं ताकि आपको कार्तिक माह के स्नान का भरपूर फायदा मिल सके।

Also Read – 

ऑनलाइन पैसा कैसे कमाये

गूगल से कैसे पैसे कमाए

न्यूज़ डॉग से पैसे कैसे कमाये

यदि आप कार्तिक माह में अधिक से अधिक स्नान द्वारा पुण्य कमाना चाहते है तो स्नान आप सूर्य उदय से पूर्व करे।

पवित्र नदियों में स्नान से पूर्व अपने हाथ पैर पहले धो ले फिर आचमन करे और फिर स्नान के समय हाथ में कुशा लेकर स्नान करे स्नान करते समय आधा शरीर जल में रहे और भगवान शिव विष्णु का ध्यान करते रहे।

यदि आप पवित्र नदियों पर नही जा सकते तो आप घर में ही स्नान करते समय नहाने के पानी में पवित्र जल गंगा का मिला कर स्नान कर ले इसके बाद भगवान सूर्य को अर्घ्य जरुर दे।

कार्तिक मास में तुलसी जी और शालिग्राम की पूजा अत्यंत फल देने वाली होती है शालिग्राम शीला का दान करने से कई यज्ञो को पूर्ण करने का फल प्राप्त होता है इस मास में तुलसी जी का पौधा लगाकर नित्य पूजा की जानी चाहिए।

कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की देव उठनी एकादशी को तुलसी जी और शालिग्राम जी का विवाह कराए
कार्तिक मास में दीपक प्रज्ज्वलित करने का विधान शास्त्रों में बताया गया है दीपक ज्ञान, उजाले, सकारात्मक उर्जा, विपत्तियों व अंधकार के विनाश का प्रतीक है बता दे कि कृष्ण और श्री राम के लिए नगरवासियों ने इन्हे प्रज्ज्वलित कर उनकी गौरव और विजय यात्रा का स्वागत किया था।

आप ऐसे जरूर करे इससे आप के जीवन की मुश्किलें कम होगी आपको कैसी लगी जानकारी हमे जरूर बताएं ऐसी ही नयी नयी जानकारी के लिए हमे फॉलो करें।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *