क्या आप जानते है 1947 में सोने का भाव क्या हुआ करता है तो पढें ये पोस्ट

आज के समय में सोने का भाव सभी को पता है श्रृंगार का मुख्य आकर्षण आभूषण अर्थात गहनों से होता है इन आभूषणों में सोना प्रमुख होता है एक वक्त था भारत देश में सोने की मात्रा अपार थी भारत सोने की चिड़िया कहा जाता था जिसे तमाम बार लूटा-खसोटा गया परन्तु फिर भी भारत में सोने की भरमार है इसका एकमात्र कारण केवल श्रृंगार ही नहीं है बल्कि सोना एक बहुत ही सुरक्षित निवेश भी माना जाता है सोने का दाम वैश्विक स्तर के बाजारों से तय होते हैं उनके दाम कम होने पर भारत में भी सोने के दामों में गिरावट आती है तथा उनके दाम चढ़ने पर अपने देश में भी दाम आसमान छूने लगते हैं।

इन्हें भी जरूर पढ़ें – 

सबसे बड़ा पाप माना जाता है स्त्री को करते हुए देख ले ये काम

अगर आपके पास एटीएम कार्ड है तो हो जाइये खुश आपके लिए खुशखबरी

सन 1947 में जब देश आजाद हुआ था तो सोने की कीमत मात्र ₹ 88.62 प्रति 10 ग्राम थी यही कीमत अगले 3 सालों में ही सन 1950 तक ₹ 94 का आँकड़ा छू कर ₹ 73 तक गिर गयी सन 1959 में सोने ने पहली बार ₹100 को पार किया।

इसके बाद सन 1972 में सोना ₹200 के आँकड़े को पार करते हुए अगले दो सालों में ₹500 तक पहुंच गया इसके बाद के आंकड़े निम्न हैं-

सन 1980-₹ 1000

सन 1985-₹ 2000

सन 1996-₹ 5100

सन 2007-₹ 10800

सन 2010-₹ 20000

सन 2011-₹ 26000

सन 2018-₹ 32425

* कीमतें- प्रति 10 ग्राम

आज वर्तमान में सोने की कीमत पोस्ट 32000 के आंकड़े को पार कर चुकी है जिसके नीचे आने की कोई उम्मीद नहीं दिख रही है।

आप को कैसी लगी जानकारी हमे जरूर बताये अगर आपको जानकारी पसंद आयी तो लाइक और शेयर जरूर करें ऐसी ही नयी नयी जानकारी के लिए हमे फॉलो करें।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *