कौन से भगवान की कितनी परिक्रमा लगनी चाहिए

0

भगवान् की सभी लोग पूजा करते है तो पूरे विधि विधान से करे तो तभी लाभ होगा हिन्दू धर्म शास्त्र में सुख शांति और ईश्वर प्राप्ति के लिए पूजा, जप तप, ध्यान, हवन और यज्ञ का प्रावधान है ऐसे में हमें ईश्वर की प्राप्ति के लिए हमेशा पूजा पाठ करना चाहिए।

इन्हें भी जरूर पढ़ें – 

क्या आप भी मानते हो साई बाबा को तो जरूर पढ़े ये खबर

2019 से 2021 तक इन राशि की किस्मत बदल जायेगी

जानिए गुड़गांव की शीलता माता से जुडी हुई कुछ खास बातें

हालांकि, पूजा करने के अनेकों विधि विधान है लेकिन आजकल सामन्य रूप से पूजा की जाती है लेकिन पूजा तभी सम्पन्न होता है जब हम परिक्रमा करते हैं परिक्रमा किये बिने पूजा अधूरा माना जाता है इसके लिए जब कभी आप पूजा करते हैं तो परिक्रमा अवश्य करें।

वैसे लोगों की मान्यता भिन्न भिन्न देवी देवताओं पर होती है ऐसे में हम धर्म संकट में फंस जाते है कि आखिर किस देव को कितनी बार परिक्रमा करनी चाहिए आज हम आपको इस बारे में बताने जा रहे हैं कि किसी देवी और किस देव को कितनी बार परिक्रमा करनी चाहिए।

सबसे पहले भगवान् गणेश की पूजा की जाती है अतः जब कभी आप अपने आराध्य देव गणेश जी की पूजा करें तो तीन बार परिक्रमा करें।

जब कभी आप अपने आराध्य देव भगवान् विष्णु की पूजा करें तो पूजा सम्पन्न करने वक्त चार बार इनकी परिक्रमा करें।

जब कभी आप माता पार्वती की पूजा करें तो तीन बार परिक्रमा करें इसके साथ ही मां दुर्गा के भिन्न भिन्न रूपों की पूजा करें तो एक या तीन बार परिक्रमा करें।

सूर्य देव की जब कभी आप पूजा करें तो इनकी सात बार परिक्रमा करें शनि देव की पूजा सम्पन्न करें वक्त सात बार परिक्रमा करें।

पीपल पेड़ की पूजा प्रत्येक शनिवार के दिन की जाती है पीपल पेड़ में 33 करोड़ देवी देवताओं का वास होता है अतः पीपल वृक्ष की सात बार परिक्रमा करें।

संकट मोचन हनुमान जी की तीन बार परिक्रमा करनी चाहिए जिस देवी देवताओं के बारे में अधिक जानकारी न हो उनकी तीन बार परिक्रमा करनी चाहिए।

ध्यान रहे कि परिक्रमा के दौरान अवरोध या विश्राम न हो अतः परिक्रमा समापन के बाद ही कोई कार्य करें धार्मिक मान्यता अनुसार सोमवती अमावस्या के दिन किसी मंदिर का 108 बार परिक्रमा करने से अमोघ फल की प्राप्ति होती है।

जब भी कही भी भगवान् की पूजा करे तो हमेशा विधि विधान से करे वैसे ही जब हम किसी भी भगवान् की परिक्रमा करे तो उसके बारे में हमे पता हो की कैसे परिक्रमा की जाती है और कितनी की जाती है इसलिए हमने आज ये जानकारी आप सभी को दी है।

आपको कैसी लगी जानकारी हमें जरूर बताएं जानकारी अगर पसंद आयी तो लाइक और शेयर जरूर करे ऐसी ही नयी नयी जानकारी के लिए हमें फॉलो करें।