इस महीने में शादी करनी होती है बेहद शुभ

हेल्लो दोस्तों शादी तो आप किसी भी महीने में कर सकते है लेकिन अगर हम कुछ खास महीने में शादी करते है तो हमारी ज़िन्दगी बदल सकती है और हमारा शादी शुदा जीवन में खुशहाली हमेशा के लिए आ सकती है।

हर किसी के जीवन का सबसे बड़ा पडाव होता है शादी और शादी के बाद हमे जीवन में कई बदलाव देखने को मिलते हैं वैसे तो शादी सिर्फ दो दिलों, दो लोगों और दो परिवारों का मेल को कहते हैं पर एक कपल के लिए शादी एक या दो दिन का नहीं पूरी जिंदगी का साथ होता है और अक्सर ऐसा देखा जाता है कि शादी के बाद नए जोड़े की हमेशा यह शिकायत होती है कि उनका पार्टनर बदल सा गया है और शायद आपको ये पता न हो परन्तु ज्योतिष की भाषा में कहा जाता है कि शादी के बाद की समस्याओं का कारण सिर्फ गलत महिने में शादी करना से भी हो सकता है तो आइए जानते हैं की किस महीने में शादी करने वाले कपल्स रहते हैं ज्यादा खुश।

इस महीने में शादी करनी होती है बेहद शुभ

जनवरी-फरवरी

इन दो महीनों के अंदर शादी करने वाले पार्टनर काफी साधारण सी लाइफ जीते हैं परन्तु ये भी सच है कि इस महीने के कपल्स एक दूसरे को बहुत से सरप्राइज भी देते हैं।

मई-जून

इन महीने के पति अपनी पत्नी को खुश रखने के सारे तरीके अपनाते हैं जबकि मई से जून के बीच में शादी करने वाले लोगों का स्वभाव बहुत ही अच्छा माना जाता है।

सितंबर-अक्टूबर

सितंबर से अक्टूबर के बिच शादी करने वाले पार्टनर एक दूसरे को बहुत ज्यादा प्यार करते है और इन 3 महीनों में शादी करने वालों को बहार घूमने की बहुत आदत होती है और शादी के बाद ऐसे कपल्स काफी जगहे घूमते भी है।

दोस्तों अगर भी शादी करनी की सोच रहे है तो आप इन में से किसी भी महीने को चुन सकते है और अपना शादी शुदा जीवन हमेशा के लिए खुशहाल भरा बना सकते है ।

आपको कैसी लगी पोस्ट हमे जरूर बताये और अपने दोस्तों के साथ शेयर करे।

Kiran Kashyap

मैं किरण कश्यप एक हिंदी ब्लॉगर हूं हिंदी भाषा की इस website पर आपको वो जानकारी उपलब्ध करवाना चाहती हूँ जो आपकी life के लिए बहुत जरुरी है आपको हमारी इस website पर कुछ ऐसी जानकारी मिलेगी जो आपको कही नहीं मिलेगी हमारा हमेशा से यही प्रयास रहा है कि हम आपको आपकी life की अच्छी जानकारी दे। www.askinhindi.in आप हमारी website को जरूर फॉलो करें।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *