इन तीन काम को करने में बने बेशर्म वरना पीछे ही रह जाओगे दुनिया वालो से

0

इन तीन काम को करने में बने बेशर्म वरना पीछे ही रह जाओगे दुनिया वालो से

हेल्लो दोस्तों वैसे तो आज की दुनिया में बेशर्म हर किसी को बोल दिया जाता है लेकिन हकीकत में बेशर्म लोग कोई और ही होते है और उन्हें बेशर्म नहीं समझदार का नाम दिया है कभी कभी ज़िन्दगी में बेशर्म लोग ही आगे निकल जाते है ।

अक्सर हम कुछ लोगो को उनकी गलत आदतों की वजह से बेशर्म कह देते है लेकिन आचार्य चाणक्य ने ऐसे कुछ बेशर्म लोगो को बहुत ही समझदार व्यक्ति कहा है क्योंकि कुछ मामलों में बेशर्म रहने वाले व्यक्ति ही जीवन में कुछ बड़ा या महान कार्य करते है छोटी – छोटी बातों में शर्म करने वाले लोग शर्म के कारण कुछ कर ही नहीं पाते आचार्य चाणक्य ने तीन चीज़ों में बेशर्म रहने वाले को सबसे सुखी इंसान कहा है।

आचार्य चाणक्य जी ने कुछ बातें बताई है।

1. आचार्य चाणक्य की पहली बात यह है कि जो मनुष्य भोजन करते समय शर्म करता है वह कभी सुखी नहीं रह सकता क्योंकि भोजन के समय शर्म करने वाले इंसान को भुखा भी रहना पड़ सकता है इसलिए भोजन करते समय हमे शर्म छोड़ देनी चाहिए।

2. आचार्य चाणक्य की दूसरी बात यह है कि जो इंसान ज्ञान प्राप्त करते समय या पढ़ाई के समय शर्म करता है वह कभी ज्ञान नहीं प्राप्त कर सकता। शर्म करने वाला व्यक्ति तो शर्म के कारण प्रश्न भी नहीं पूछ सकता।

3. आचार्य चाणक्य की तीसरी बात यह है कि जो इंसान धन के मामले में शर्म करता है। वह कभी अमीर नहीं बन सकता जो लोग व्यापार या व्यवहार में पैसों के लेन-देन करने में शर्म करते है वे पैसा नहीं कमा सकते अगर हमे किसी से पैसे मांगने है तो हमे शर्म नहीं करनी चाहिए इस प्रकार जो इंसान भोजन करते समय, ज्ञान सीखते समय और पैसा कमाते समय शर्म या संकोच नहीं करता है वह सबसे सुखी इंसान होता है।

आप इन बातों को खुद में लाये और ज़िंदगी की ऊंचाई पर पहुँच जाएं कभी कभी हम उन बातों को गलत समझ लेते है जो बातें हमारे जीवन के लिए अच्छी होती है।

ऐसी ही और पोस्ट को पढ़ने के लिए हमारी पोस्ट को लाइक और फॉलो करें।

Loading...