अपने फ़ोन में कर ले ये सेटिंग ,खत्म हो जायेगे ये वायरस

स्मार्टफोन जब हम यूज़ करते है तो उसमें वायरस तो आ ही जाता है। सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम जो दुनिया में सभी लोग ज्यादातर यूज़ करते हैं हालांकि इस ऑपरेटिंग सिस्टम को सबसे सुरक्षित एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम मानते हैं लेकिन दुनिया में कई ऐसे कलाकारी हैकर्स हैं जो अपने एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम को हैक करने की कोशिश करते हैं।

इसीलिए कोई भी यह 100% गारंटी नहीं दे सकता कि वायरस का अटैक फोन में नहीं होगा इसी के मद्देनजर देखते हुए गूगल ने एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम वाले फोन में एक ऐसा फ़ीचर्स दिया हैं जिससे वायरस अटैक रोक सकते हैं लेकिन बहुत से ऐसे लोग हैं जिन्हें इस फ़ीचर्स के बारे में नहीं पता तो आज हम आपको इस फीचर्स के बारे में बताएंगे इसको आपको ऑन करना देना है ताकि किसी भी तरह का वायरस आपके मोबाइल में नहीं आएगा अगर पहले से ही वायरस मौजूद है तो वह पूरी तरह से निकल जाएगा।

सबसे पहले अपने एंड्रॉयड फोन में सेटिंग में जाएं सेटिंग में जाने के बाद सबसे नीचे एक गूगल नाम का ऑप्शन दिखेगा उस पर टैब करें उसके बाद में आपको सिक्योरिटी स्टेटस नाम के ऑप्शन के ऊपर क्लिक करना है उसके बाद उसमें आपको दो ऑप्शन मिलेंगे एक है स्कैन डिवाइस फॉर सिक्योरिटी थ्रेड और दूसरा है इंप्रूव हार्मफुल एप डिटेक्शन।

इसमें आपको इंप्रूव हार्मफुल ऐप डिटेक्शन इस ऑप्शन को क्लिक करके ऑन कर देना है इस ऑप्शन को चालू कर देने से आपके फोन में डाउनलोड होने वाले ऐप को गूगल सबसे पहले स्कैन करेगा और आपको बता देगा कि इसमें वायरस है कि नहीं गूगल के इस फ़ीचर्स से किसी भी तरह का वायरस फोन में नहीं आ पाएगा।

दूसरा ऑप्शन स्कैन डिवाइस फॉर सिक्योरिटी थ्रेड इसको भी ऑन कर दें ताकि आपके डिवाइस में अगर कोई वायरस है तो वह डिटेक्ट करके आपको नोटिफाय करेगा इस तरह की सेटिंग से आपका फोन को वायरस अटैक करने वाले थ्रेड को पूरी तरह सुरक्षित कर पाएंगे।

यह ऑप्शन एंड्रॉयड फोन के वर्शन के हिसाब से अलग नाम से रह सकता है लेकिन यह ऑप्शन फोन की सेटिंग में गूगल नाम के फोल्डर में ही मिलेगा अपने फोन के मॉडल के हिसाब से गूगल नाम के फोल्डर पर ही मिलते जुलते नाम से रह सकता है।

आपको कैसी लगी जानकारी हमे जरूर बताएं जानकारी पसंद आई तो लाइक ओर शेयर जरूर करे ऐसी ही नई नई जानकारी के लिए हमे फॉलो करें।

Join The Discussion