सुशांत सिंह के केस में आएगी खतरनाक जांच एजेंसी, होंगे सब हैरान

क्या आप भी जानते है कि फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मौत केस में अब राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी एनआईए की एंट्री हो सकती है। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है, क्योंकि ड्रग से संबंधित मामलों की जांच के लिए केंद्र सरकार द्वारा अब राष्ट्रीय जांच एजेंसी को मंजूरी दे दी गई है। सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा है कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़े केस की एनआईए जांच का यह बड़ा कारण हो सकता है।

आपको बता दें कि इस एजेंसी का गठन मूल रूप से आतंकवाद से संबंधित मामलों की जांच के लिए किया जाता है। अगर इस केस की जांच एनआईए को सौंपी जाती है तो तो केंद्रीय जांच ब्यूरो, प्रवर्तन निदेशालय और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के बाद एनआईए इस मामले में शामिल होने वाली चौथी एजेंसी बन जाएगी।

वहीं दूसरी तरफ अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग एंगल की छानबीन कर रहे एनसीबी ने जांच के दायरे को आगे बढ़ाते हुए क्वान टैलेंट मैनेजमेंट एजेंसी के सीईओ ध्रुव चिटगोपेकर और बॉलीवुड टैलेंट मैनेजर जया साहा से लगभग 6 घंटों तक पूछताछ की, जबकि अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की मैनेजर करिश्मा प्रकाश पूछताछ के लिए नहीं गईं।

एनसीबी सूत्रों के मुताबिक, क्वान टैलेंट मैनेजमेंट के लिए काम करने वाली करिश्मा प्रकाश और सुशांत की पूर्व-मैनेजर श्रुति मोदी एनसीबी द्वारा दिए गए तलब में शामिल नहीं हुई।

सूत्रों के अनुसार साहा से लगातार दूसरे दिन 6 घंटों तक पूछताछ की गई, जबकि चिटगोपेकर से पहली बार पूछताछ की गई।प्रकाश को इसलिए तलब किया गया है क्योंकि व्हाट्सअप के कुछ चैट में खुलासा हुआ है कि वह भी कथित तौर पर ड्रग मामले से जुड़े हुए हैं।

एनसीबी के सूत्रों के अनुसार, सुशांत मामले से संबंधित चैट में साहा का नाम सामने आया, जहां उन्होंने दिवंगत अभिनेता को कथित तौर पर सीबीडी तेल देने के लिए रिया चक्रवर्ती से सिफारिश की थीं।

एनसीबी इस मामले में अभी तक सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती, उनके भाई शोविक, सुशांत के हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा, निजी स्टाफ दीपेश सावंत सहित 15 से अधिक लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

आपको कैसी लगी जानकारी हमें जरूर बताएं ऐसी ही नई नई जानकारी पाने के लिए हमें फ़ॉलो जरूर करें।

 

Join The Discussion