सर्दियों में शुरू करे इन टिप्स को फॉलो, हमेशा रहोगे स्वथ्य

आज हम आपको बहुत ही खास जानकारी देंगे
सर्दियों के मौसम में स्वस्थ और सक्रिय रहना काफी चुनौतीपूर्ण है। ठंडी हवा और धीरे-धीरे तापमान में गिरावट किसी को भी बीमार कर सकती है, खासकर अगर आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली इतनी मजबूत नहीं है।

बीमार पड़ना बहुत परेशान कर सकता है और दिनों के लिए आपके काम में बाधा डाल सकता है। लेकिन आप सर्दियों के महीनों के दौरान चार दीवारों के भीतर खुद को सीमित नहीं कर सकते।

यहीं पर आयुर्वेद आपके बचाव में आता है। प्राचीन भारतीय चिकित्सा प्रणाली के अनुसार, कुछ सरल स्व-देखभाल युक्तियों का पालन करके आप ठंड को आसानी से कम कर सकते हैं। यहां 5 आयुर्वेद अनुशंसित सुझाव दिए गए हैं, जिनका आप इस सर्दी के मौसम में पालन कर सकते हैं।

हल्दी वाला दूध

ज्यादातर लोग सर्दी के मौसम में गर्म रहने के लिए कॉफी या चाय पीते हैं। लेकिन कैफीन युक्त पेय आपकी इतनी मदद नहीं करते हैं। इस मौसम में, अपने गर्म कप कॉफी का त्याग करें और अपने आहार में स्वस्थ हल्दी दूध शामिल करें। रोज हल्दी वाला दूध या सुनहरा दूध पीने से आप गंदे ठंड और फ्लू से सुरक्षित रहेंगे। आप इसे और अधिक प्रभावी बनाने के लिए अपने पेय में दालचीनी पाउडर और इलायची पाउडर जैसे कुछ मसाले भी मिला सकते हैं।

शरीर की मालिश

आवश्यक तेलों, तिल के तेल या सरसों के तेल से मालिश करना आपको गर्म रखेगा, ठंड के मौसम से लड़ने में आपकी मदद करेगा और आपकी त्वचा को नरम और चिकना बनाए रखेगा।

आप सुबह स्नान करने से पहले या बिस्तर पर जाने से पहले अपनी त्वचा की मालिश कर सकते हैं। मालिश करने से आपका दिमाग शांत होता है, तनाव से राहत मिलती है और आपकी नींद की गुणवत्ता में सुधार होता है।

नारियल का तेल

सर्दियों के मौसम में सूखे और घुंघराले बाल एक और आम समस्या है। ठंडी हवा आपके बालों से सारी नमी छीन लेती है। इस मौसम में अपने बालों को पोषण देने और मजबूत बनाने के लिए नारियल तेल का उपयोग करें। अपनी उंगलियों पर नारियल तेल की कुछ बूँदें लें और इससे अपने स्कैल्प की मालिश करें। नारियल के तेल से मालिश करने से आपके बाल मजबूत और चमकदार बनेंगे।

गर्म भोजन

गर्मियों की तुलना में सर्दियों में हमारा पाचन तंत्र कमजोर होता है। तो, कोशिश करें और इस मौसम में ठंडे भोजन से बचें। जब आप ठंडा भोजन खाते हैं, तो इसे पचाने के लिए आपके पाचन तंत्र को अधिक मेहनत करनी पड़ती है। यह अक्सर अपच की ओर जाता है और अन्य पेट मुद्दों से संबंधित है। स्वस्थ रहने के लिए भोजन को पचाने के लिए गर्म और आसान खाएं।

सुबह-सुबह टहलना

किसी भी मौसम में स्वस्थ रहने के लिए, सक्रिय रहना महत्वपूर्ण है। सुबह उठना और सर्दियों में टहलना थोड़ा मुश्किल होता है, लेकिन आपको फिट रहने के लिए ऐसा करना होगा। अगर आपको बाहर जाना पसंद नहीं है तो आप घर पर भी योग कर सकते हैं। मुख्य एजेंडा सक्रिय रहना है चाहे आप किसी भी तरह का व्यायाम करें।

आपको कैसी लगी जानकारी हमे जरूर बताएं जानकारी अगर पसंद आई तो लाइक और शेयर जरूर करे ऐसी ही नई नई जानकारी के लिए हमे फॉलो करें।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *