लौंग का सेवन करने से खत्म होती है ये बीमारियों, आप भी जरूर पढ़े

आज हम आपको बहुत ही खास जानकारी देंगे जो आपके बहुत ही काम आने वाली है। लौंग के बारें में आपने जरूर सुना होगा। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि रोजमर्रा की समस्‍यों में लौंग कैसे फायदा पहुंचाती है।आपकी किचन से लेकर पूजा सामग्री तक इसका अपना खास महत्व है। खाने को खुशबूदार बनाने के साथ साथ ये सेहत के लिए भी काफी अच्छा होता है। कई देसी नुस्खों के साथ साथ दवाईयों में भी लौंग का इस्तेमाल किया जाता है।

लौंग में प्रोटीन, आयरन, कार्बोहाइड्रेट्स, कैल्शियम, फॉस्फोरस, पोटैशियम, सोडियम और हाइड्रोक्लोरिक एसिड भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं। साधारण सा सर्दी-जुकाम से लेकर और भी कई समस्‍याओं में लौंग का इस्तेमाल किया जाता है।

लौंग का तेल पेट की तकलीफ में पहुंचाए आराम

पाचन, गैस, कांस्टीपेशन की समस्या से पीड़ित लोगों के लिए लौंग काफी फायदेमंद होती है।

सुबह खाली पेट 1 ग्लास पानी में कुछ बूंदें लौंग के तेल की डालकर पीने से काफी आराम होगा।

मुंह की बूदबू को करे दूर

अधिकतर लोगों को मुंह से बदबू आने की शिकायत रहती है। ऐसे लोगों के लिए लौंगे बहुत ही फायदेमंद है। 40 से 45 दिनों तक रोज सुबह मुंह में साबुत लौंग का सेवन करने से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

चेहरे के दाग-धब्‍बे दूर करे

चहरे के दाग-धब्बों या फिर सांवली त्वचा को निखारने के लिए भी लौंग फायदेमंद है। लौंग के पाउडर को किसी फेसपैक या फिर बेसन के साथ मिलाकर लगाया जा सकता है। मगर सिर्फ लौंग का पाउडर कभी चेहरे पर नहीं लगाना चाहिए क्योंकि यह बहुत गर्म होता है।

रूखे बालों को बनाए सिल्‍की

जिन लोगों के बाल अक्सर झड़ते हैं या फिर सूखे-सूखे से रहते हैं वह लोग लौंग से बना कंडीश्नर इस्तेमाल कर सकते हैं। या फिर लौंग को थोड़े से पानी में गर्म कर उससे बाल धोएं जा सकते हैं। इससे बाल घने और मजबूत होते हैं।

सर्दी जुकाम में भी दे राहत

सर्दी-जुकाम की समस्या के वक्त मुंह में साबुत लौंग रखने से जुकाम के साथ ही गले में होने वाले दर्द से भी काफी आराम मिलता है।

दांत का दर्द

अक्सर ऐसा हो जाता है जब रातबेरात दांत में अचानक दर्द उठने लगता है। ये वाकई में असहनीय हो जाता है और अगर आपके बॉस दांत के दर्द की कोई दवा मौजूद न हो तो आप एक लौंग को उस दांत के नजदीक दबा ले ये आपके दर्द से राहत दिलाएगा।

उल्टी

गर्भवती की मिचली में लौंग का चूर्ण शहद के साथ बार-बार चाटने से जी मिचलाना उल्टी आदि सभी कष्टों से छुटकारा मिल जाता है। इसे प्रतिदिन 120 ग्राम से 240 ग्राम की मात्रा में दो बार चाटना चाहिए।

आपको कैसी लगी जानकारी कमेंट करके जरूर बताएं अगर आपको जानकारी पसंद आई तो लाइक और शेयर जरूर करें।

Join The Discussion