मोदी सरकार की बढ़ गयी टेंशन, इन राज्यो की वजह से

एक बार फिर बढ़ी मोदी सरकार की टेंशन देश में एक बार फिर से कोरोना के बढ़ते मामलों ने सरकार को चिंता में डाल दिया है। सरकारी आंकड़ों से पता चला है कि आठ राज्य भारत में अधिकांश कोरोना वायरस रोग (कोविड-19) से संबंधित मौतों के लिए जिम्‍मेदार है।

रविवार को देश भर में 444 नई मौतों के साथ, इस महामारी से मरने वाले लोगों की कुल संख्या 137,173 हो गई है। नई कोविड-19 की लगभग 71% मौतें दिल्ली, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, हरियाणा, पंजाब, केरल, उत्तर प्रदेश और राजस्थान से हो रही हैं।

रविवार को 89 मौतों के साथ महाराष्ट्र में देश में सबसे आगे रहा है। दिल्ली में 68 मौतें हुईं और पश्चिम बंगाल में 54 मौतें हुईं।

आठ राज्यों में से ये तीन राज्य वर्तमान में कोविड-19 के कारण होने वाली अधिकांश मौतों की रिपोर्ट कर रहे हैं।

इसके अलावा, 22 राज्यों में मौत के मामले काफी कम देखे जा रहे हैं, जोकि राष्ट्रीय औसत से काफी कम है। भारत का मृत्‍यु दर (सीएफआर) लगातार घट रहा है। अगस्त में लगभग तीन महीने पहले के राष्ट्रीय सीएफआर से 1.98%, अब घटकर 1.45% हो गया है।

भारत में भी विश्व में प्रति मिलियन जनसंख्या में सबसे कम मौतों में से एक है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने सोमवार की सुबह ट्वीट किया, “कम और प्रबंधनीय घातक दर को कम करने के लिए दैनिक मृत्यु दर के आंकड़े 500 से कम हो गए हैं।

भारत ने अपनी कोविड-19 परीक्षण क्षमता में भी उल्लेखनीय रूप से वृद्धि की है, हाल ही में प्रति मिलियन जनसंख्या परीक्षणों की संख्या 100,000 अंक को पार कर रही है।

औसतन, भारत कम से कम तीन महीनों से एक ही दिन में कोविड-19 मरीजों का पता लगाने के लिए दस लाख परीक्षण कर रहा है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR), जो भारत की कोविड-19 परीक्षण पहल की अगुवाई कर रही है, अब तक परीक्षण करने के लिए देश भर में 2,165 प्रयोगशालाओं को मंजूरी दी है।

इन सभी प्रयोगशालाओं में 1,175 प्रयोगशालाएं सरकारी क्षेत्र में हैं और 990 निजी क्षेत्र में हैं।

आपको कैसी लगी जानकारी हमे जरूर बताएं अगर आपको जानकारी पसंद आई तो लाइक और शेयर जरूर करें और कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

 

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *