फिर से लगने जा रहा है लॉक डाउन, जानें क्या है कारण

हम आपको लॉक डाउन के बारे में जानकारी देने जा रहे है। देश में एक बार फिर कोरोना मरीजों की तादाद बढ़ने लगी है। वही दिल्ली कोरोना संक्रमण की तीसरी स्टेज से गुज़र रही हैं। कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए एक बार फिर लॉकडाउन की चर्चा तेज़ हो गई है। वही देश के कुछ जगहों जैसे हमदाबाद में प्रशासन प्रतिबंध और कर्फ्यू लगा चुका है।

कुछ हफ़्तों में बाज़ारों में भीड़ भाड़ भी देखने को मिली जिसकी तस्वीरें सामने आ रही हैं। जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियाँ उड़ते देखा गया। जिसकी वजह से कोरोना संक्रमण तेजी से फैलने का खतरा बढ़ गया है। ऐसे में सभी के मन में ये सवाल उठ रहा है कि अगर देश में एक बार फिर लॉकडाउन बढ़ गया तो क्या होगा?

दिवाली बीतने के बाद भी बाज़ारों में काफी भीड़ देखने को मिल रही है। लेकिन इसका असर खरीदारों में अब तक नज़र नहीं आया। गूगल मोबिलिटी ट्रेंड के आंकड़ों पर गौर करें तो बाजार अब भी कोविड से पहले के स्तर की खरीदारी तक नहीं पहुंच पाए हैं। इसके लिए 3 जनवरी 2020 तक और लॉकडाउन के बाद 17 नवंबर तक पांच सप्ताह के आंकड़ों में तुलना की गई। दिवाली में हुई शॉपिंग के बावजूद इसमें ज्यादा असर नहीं पड़ा। लेकिन यह जनवरी से फरवरी के दौरान पांच सप्ताह के आंकड़ों से 17 प्रतिशत कम रही।

देश में 25 मार्च से लगे लॉकडाउन के बाद कई लोगों की नौकरियों में संकट मंडराने लगा। इस दौरान कई काम ठप हो गए, हज़ारों लोगों की नौकरी चली गई।ऐसे में अगर देश में दोबारा लॉक डाउन होता है तो हालात काफी बदतर हो सकते हैं।

कोरोना से बढ़ते मामले को देखते हुए अगर सरकार देश में एक बार फिर से लॉकडाउन करती है तो कई ऐसे सेक्टर हैं जो तबाह हो जाएंगे। जो अब तक उभर नहीं पाए। डिमांड और सप्लाई प्रभावित लोगों पर तो सबसे ज्यादा इसका असर होने वाला है।

आपको कैसी लगी जानकारी हमे जरूर बताएं अगर आपको जानकारी पसंद आई तो लाइक और शेयर जरूर करें।

Join The Discussion