धोनी ने क्या कहा ऐसा, लगातार तीन मैच हारने के बाद

आपको हम बहुत ही खास जानकारी देने जा रहे है
चेन्नई सुपर किंग्स आईपीएल 2020 में लगातार तीसरा मैच हार गई करीब छह साल बाद फिर से ऐसा हुआ है, जब सीएसके ने लगातार तीन मैच गंवाए हैं पहले ऐसा साल 2014 में हुआ था और आईपीएल इतिहास में दूसरी बार है जब पहले चार में से तीन मैच हारे हैं।

कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का कहना है कि उनकी टीम को पेशेवर खेल दिखाना होगा उनका यह बयान सनराइजर्स हैदराबाद से सात रन से हारने के बाद आया है हैदराबाद ने पहले खेलकर 165 रन बनाए इसके जवाब में चेन्नई की टीम 157 रन ही बना सकी धोनी नाबाद 47 रन बनाकर लौटे लेकिन जीत नहीं दिला सके चेन्नई की टीम अभी अंक तालिका के पैंदे में है।

हार पर क्या बोले धोनी

मैच के बाद धोनी ने कहा कि लंबे समय बाद वे लगातार तीन मैच हारे हैं। उन्हें काफी चीजों को सही करने की जरूरत है पेशेवर तरीके से खेलना होगा धोनी ने कहा, हमें कैच पकड़ने होंगे नो बॉल नहीं डालनी होंगी इन चीजों पर हम काबू कर सकते हैं हो सकता है कि हम काफी रिलैक्स हो गए हैं कई बार तो कुछ ज्यादा ही रिलैक्स रहे हैं।

धोनी ने टीम साथियों से कहा कि उन्हें बुनियादी चीजों को दुरुस्त करना होगा इसमें भी फील्डिंग पर काफी काम करना होगा आने वाले मैचों से पहले यह कमी दूर करने की जरूरत है उन्होंने कहा,

16वें ओवर के बाद हमारे दो ओवर सही थे लेकिन कुल मिलाकर हम और अच्छा कर सकते थे कोई भी कैच छोड़ना नहीं चाहता लेकिन फिर भी हमें एक मानक तय करना होगा कि जब टीम जबरदस्त खेल नहीं दिखा रही है तो हमें इस तरह के कैच तो नहीं ही छोड़ने हैं कैच से नॉकआउट स्टेज के मैच में नुकसान हो सकता है इसलिए जरूरी है कि बेस्ट प्रदर्शन करें इस मैच में कई अच्छी बातें हुईं लेकिन हम मजबूती से वापसी करने की कोशिश करेंगे।

आखिरी ओवरों में थक गए धोनी

हैदराबाद के लक्ष्य का पीछा करने के दौरान धोनी को काफी दिक्कत भी हुई एक तो गेंद उनके बल्ले पर सही से नहीं आ रही थी दूसरा उनकी सेहत भी गड़बड़ लग रही थी वे थके हुए लग रहे थे और आखिरी ओवर में तो उनके शॉट में जान ही नहीं थी इस बारे में धोनी ने बताया,

मैं गेंदों को सही से मार नहीं पा रहा था काफी जोर से मारने की कोशिश कर रहा था जब विकेट थोड़ा धीमा होता है तो गेंद को टाइम करने की जरूरत होती है लेकिन मैदान को देखकर दिमाग में आता है कि गेंद को जोर से मारा जाए मैनें जितना हो सकता था उतना समय लेने की कोशिश की अपनी सेहत के बारे में धोनी का कहना था,

वहां काफी गर्मी थी इसलिए गला बार-बार सूख जा रहा था. इससे खांसी आ रही थी जब इस तरह के लक्षण होते हैं तो आप थोड़ा आराम ले सकते हैं।

हालांकि धोनी ने साफ किया कि वे एकदम ठीक है बता दें कि मैच के दौरान धोनी को फिजियो की मदद भी लेनी पड़ी वे दवाई लेते भी दिखाई दिए।

राहुल चाहर की कहानी, जो सिर्फ दिग्गजों के विकेट उड़ाता है।

आपको कैसी लगी जानकारी हमें जरूर बताएं ऐसी ही नई नई जानकारी पाने के लिए हमें फ़ॉलो जरूर करें।

Join The Discussion